Skip to content

लखनऊ में आयोजित चार दिवसीय सेमिनार/कार्यशाला का एजेंडा

1. आमंत्रित प्रतिभागियों के नाम (कृपया लिंक क्लिक करें)

2. परिचर्चा की प्रक्रिया 

3. परिचर्चा का विस्तृत टाइम टेबल (कृपया लिंक क्लिक करें)

4. 24 अक्तूबर 2024 को की जाने वाली घोषणा के घोषणा पत्र की ड्राफ्टिंग - कानूनी प्रश्नों (एफएक्यू) सहित मुद्देवार घोषणा के लिए मसौदा समिति और विषयों के प्रवक्ताओ के नाम तय करना
5. प्रेस विज्ञप्ति - मसौदा तैयार करने वाले व्यक्तिप्रेस आमंत्रणई-मेलिंगप्रेस विज्ञप्ति वितरण (पेपर और इलेक्ट्रॉनिक, दोनों )।
6. वेबसाइट सामग्री - संविधाननिर्वाचन क्षेत्रों की सूची, संसदीय कार्य की बैठकों के नियम, संसदीय सत्र की तिथियां तय करना.
7. अंतरिम सरकार के संविधान को अंतिम रूप देने वाली समिति का गठन
8. जो आर्थिक अनुदान में सक्षम नहीं है किंतु सचिवालय और फील्ड वर्क के लिए उपयोगी हैं उनको जोड़ने का तरीके पर चर्चा।

9. अंतरिम संसद के सांसद के रूप में नामांकन की शर्तों पर चर्चा

10. कुछ लोगों को दक्षिण एशियाई संघ की अंतरिम संसद के सांसद के रूप में नामांकन करना  (Showing map of constituencies)
11. कुछ लोगों को विश्व के सभी देशों/संयुक्त राष्ट्र संघ की अंतरिम संसद के सांसद के रूप में नामांकन करना
12. दक्षिण एशियाई संघ की अंतरिम सरकार के कुछ मंत्रियों का चुनाव करना
13. विश्व के सभी देशों/संयुक्त राष्ट्र संघ की अंतरिम सरकार के कुछ मंत्रियों का चुनाव करना
14. अंतरिम संसद और सरकार के गठन के संबंध में सभी राष्ट्र प्रमुखों को सूचना देने पर चर्चा।
15. मीडिया लॉबिंग कमेटी का गठन करना
16. खर्चों को पूरा करने के लिए पारस्परिक दान संग्रह करना
17. शेष खर्चों को पूरा करने के लिए बाहर से दान संग्रह करना

18. सचिवालयों को चलाने के लिए धन के स्रोतो पर विचार करना
19. 24 अक्तूबर 2024 को दिल्ली में होने वाले समारोह के प्रतिभागियों की सूची बनाना
20. बैठक में भाग लेने वालों और मीडियाकर्मियों के लिए भोजन
21. 24 अक्तूबर 2024 को दिल्ली में होने वाले समारोह के प्रतिभागियों के लिए आवास व्यवस्था पर चर्चा
22. 24 अक्तूबर 2024 को दिल्ली में होने वाले समारोह के कार्यक्रम प्रबंधन समिति का गठन करना

23. भारतीय राज्य का सहयोग लेने और भारत में वैश्विक अधिकारों के लिए जनाधार तैयार करने की योजना पर चर्चा
-
1. लाइजनिंग समिति का गठन जो विदेश मंत्रालय, एमएफए के संपर्क में रहे।
2. वामपंथियोंमध्यमार्गियोंसमाजवादीगांधीवादीअम्बेडकरवादियों की एक पार्टी बनाने के अभियान की रणनीति बनाना (भारत सरकार का सहयोग लेने के लिए)
3.  आरक्षण में एपीएल और बीपीएल का कोटा (जनाधार बनाने के लिए)
4.  गोयल समिति की सिफ़ारिशों का कार्यान्वयन। (जनाधार बनाने के लिए)
5प्रधान मंत्री का चुनाव करने के लिए पंचायत को मतदान का अधिकार देने का अभियान  (जनाधार बनाने के लिए)

अन्य विचारणीय विषय-

24. दिसंबर में संपन्न चार दिवसीय संगोष्ठी की रिपोर्ट पर चर्चा।